शादी के बाद महिलाओं को गलती से भी ये 5 बातें किसी से शेयर करनी नहीं चाहिए

शादीशुदा महिलाएं अक्सर अपने आसपास की महिलाओं से अपनी बातें शेयर करती हैं। यदि कोई पड़ोसी या रिश्तेदार कहता है कि आपके सिर का कंगन बहुत अच्छा लग रहा है या हाथ का कंगन बहुत अच्छा लग रहा है, तो यह सुनकर वे इसे उतार देते हैं और दे देते हैं। ऐसा करके वह अपना खुद का लेनदेन बनाने में सफल होता है। लेकिन शादीशुदा महिलाओं को कभी भी कुछ बातें किसी दूसरे के साथ शेयर नहीं करनी चाहिए।

ऐसा करने से आपके वैवाहिक संबंध कमजोर होते हैं और साथ ही साथ दुर्भाग्य भी आता है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि एक विवाहित महिला को अपने रिश्तेदारों या दोस्तों के साथ क्या साझा नहीं करना चाहिए।

सिंदूर एक विवाहित महिला की सबसे बड़ी निशानी होती है। इसलिए कभी भी अपना सिंदूर दूसरे को नहीं देना चाहिए। हालांकि आप सिंदूर का नया डिब्बा दे सकते हैं। इसके अलावा कभी भी सिर पर सिंदूर नहीं लगाना चाहिए।

शादी का कपड़ा
विवाहित महिलाओं को अपनी शादी की पोशाक, दुपट्टा या साड़ी कभी भी किसी अन्य व्यक्ति के साथ साझा नहीं करनी चाहिए, जो भी कपड़े आपने अपनी शादी के दिन पहने थे। माना जाता है कि ऐसा करने से किस्मत खराब हो सकती है।

आँख छाया
स्याही न सिर्फ आंखों की खूबसूरती बढ़ाती है बल्कि दूसरे की नजर से भी बचाती है। ऐसा माना जाता है कि विवाहित महिलाओं को कभी भी किसी अन्य व्यक्ति के साथ स्याही साझा नहीं करनी चाहिए। ऐसा करने से पति का प्यार खत्म हो सकता है और झगड़े भी हो सकते हैं।

सिर का बंधन
सिंदूर के साथ-साथ सिर को बांधना एक विवाहित महिला का एक बड़ा संकेत माना जाता है। उसमें अपनी बात भी नहीं देनी चाहिए। ऐसा माना जाता है कि किसी का सिर का बंधन उतारकर दूसरे के सिर पर लगाने से पति का प्यार बंट जाता है। अगर आप किसी को बिंदी देना चाहते हैं तो नया पैकेट खरीद कर दें।
हाथ मेंहदी

सा माना जाता है कि जिस महिला के हाथ में मेहंदी जितनी गहरी होती है उसका पति उससे उतना ही ज्यादा प्यार करता है। इसलिए अगर आप अपने हाथ की मेहंदी किसी और के साथ शेयर करेंगी तो आपके पति का प्यार भी बंट जाएगा। बची हुई मेहंदी को कभी भी किसी अन्य विवाहित महिला को अपने हाथों पर लगाने के बाद न दें।

कंगन और पायल
कहा जाता है कि चूड़ियों और पायल की खान बनाने वाली शादीशुदा महिला के लिए खुशियां लेकर आती है। यह देखा गया है कि एक विवाहित महिला अपने कपड़ों से मेल खाने के लिए एक मंडली में दूसरे व्यक्ति से कंगन और पायल लेती है। ऐसा करना अशुभ माना जाता है। कभी भी अपना ब्रेसलेट और पायल किसी अन्य व्यक्ति के साथ साझा न करें।

शास्त्रों के अनुसार जन्मदिन पर जरूर करें ये 5 काम, पाएंगे लंबी उम्र और सौभाग्य
जन्मदिन मनाना हर किसी को पसंद होता है। हर साल लोग अपने जन्मदिन का बेसब्री से इंतजार करते हैं। फिर वह अपना जन्मदिन परिवार और दोस्तों के साथ बहुत धूमधाम से मनाते हैं। अपने जन्मदिन पर व्यक्ति सोचता है कि आने वाला साल बेहतर और खुशहाल होगा। उसके जीवन का दर्द कम होगा और भाग्य हमेशा उसके साथ रहेगा।

हमारे शास्त्रों में भी जन्मदिन को शुभ और लाभकारी बनाने के कुछ उपाय बताए गए हैं। यदि आप अपना जन्मदिन इन शास्त्र नियमों के आधार पर मनाते हैं, तो आपका आने वाला वर्ष सौभाग्य और स्वास्थ्य लेकर आएगा। इससे आपका पूरा साल बहुत खुशी से बीतता है। तो आइए जानते हैं कि आपको अपना जन्मदिन कैसे मनाना चाहिए।

सनातन मान्यता के अनुसार जन्मदिन पर मोमबत्ती या दीया बजाना एक बड़ा शगुन माना जाता है। ऐसा करने से मनुष्य को नर्क के द्वार दिखाई देते हैं। आपके लिए यह उचित होगा कि आप मंदिर में अधिक से अधिक दीये जलाएं, चाहे आप कितने भी पुराने क्यों न हों, इतनी मोमबत्तियां जलाने के बजाय। इससे आपका आने वाला साल सकारात्मक रहेगा।

ये चीजें न खाएं
जन्मदिन पर गलती से भी मांस और मछली का सेवन नहीं करना चाहिए। इस दिन आप एक और साल जीने का जश्न मनाते हैं, जिसमें किसी अन्य जीवन को मारना या खाना उचित नहीं है, ऐसा करना पाप है। शास्त्रों के अनुसार आपको अपने जन्मदिन पर शराब का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि आने वाला साल किसी के जन्मदिन पर शराब पीने या मांस खाने के कारण विवाद और बीमारी से घिरा रहेगा।

ऐसे नहाना
शास्त्रों के अनुसार जन्म के दिन गलती से भी गर्म पानी से स्नान नहीं करना चाहिए। इस क्रिया का आपके ग्रह पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इसलिए जन्मदिन के दिन प्रातः काल गंगाजल मिलाकर सादे जल से स्नान करना चाहिए। यह आपको पूर्ण रूप से पवित्र और पवित्र बनाता है।

इन लोगों का आशीर्वाद लेने के लिए

अपने जन्मदिन पर देवी-देवताओं, गुरुओं और माता-पिता का आशीर्वाद लेना न भूलें। उनके जन्मदिन पर उनके पैर छूकर आने वाला साल खुशियों से भरा हो और आपका भाग्य भी आपका साथ देता है।

दान करने के लिए

जन्म दिन पर धर्म का विशेष महत्व माना जाता है। इसलिए इस दिन किसी मंदिर में दान करना चाहिए। इसके अलावा आप किसी गरीब या जरूरतमंद की भी मदद कर सकते हैं। ऐसा करने से देवता प्रसन्न होते हैं और मनचाहा फल मिलता है।

इन लोगों का अपमान नहीं करने के लिए
जन्मदिन पर गलती से भी किसी का अपमान नहीं करना चाहिए। फिर उसका अपमान नहीं करना चाहिए चाहे वह आपका मित्र, संबंधी, बच्चा या शत्रु ही क्यों न हो। इस दिन इन सबका अच्छे से व्यवहार करना चाहिए। शनिदेव नाराज हो जाते हैं खासकर जब वह किसी गरीब या असहाय व्यक्ति को उसके जन्मदिन पर परेशानी देते हैं। कारण यह है कि शनिदेव उनका प्रतिनिधित्व करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.