सालों बाद उर्फी जावेद का छलका दर्द, बोली- मेरे पिता ने बचपन में मुझे शारीरिक और….

आप लोग बिग बॉस तो देखते ही होगें, क्‍योंकि बिग बॉस एक ऐसा प्रोग्राम है जिसे दबंग खान यानी की सलमान खान होस्‍ट करते है, ऐसे तो बिग बॉस के घर में बहुत से लोग आये और अपना अभिनय दिखा कर चले गये। हालांकि बिगबॉस के घर में कई ऐसे उतार चढ़ाव होते रहे है उसके चलते कई लोग इस घर से बाहर भी होते है। आज हम एक ऐसी ही कंटेस्टेंट के संबंध में बताने वाले है जो हाल ही में बिग बॉस के घर से बाहर हुई है। आपको बता दें कि बिग बॉस में आने के बाद ये कंटेस्टेंट इन दिनों अपने कपड़ो को लेकर काफी चर्चा में बनी हुई है

दरअलस आज हम जिस कंटेस्टेंट की बात कर रहे है उनका नाम उर्फी जावेद। इनका जीवन काफी संघर्षो भरा रहा है। उर्फी जावेद ने एक साक्षात्कार के दौरान बताया की “जब उनकी तस्वीरें एक अ,डल्ट साइट पर अपलोड कर दी गईं थी, उस समय उनको परिवार का भी साथ नहीं मिला था। मुझे उस समय दोषी माना जा रहा था और लोगों को लग रहा था मैं गु’प्त रूप से एक पो’र्न स्टार हूं। इस घटना के बाद मेरे पिता ने भी मुझे मा’नसिक और शा’री’रिक रूप से प्र’ता’ड़ित करने लगे थे। यहां तक की रिश्तेदार मेरे बैंक खाते की जांच करना चाहते थे, ताकि छिपे हुए पैसों का पता लगाया जा सके, हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में उर्फी जावेद ने अपने पिता और रिश्तेदारों पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। क्योंकि उनके रिश्तेदार उर्फी को ‘पो’र्न स्टार’ कहकर बुलाते थे। वहीं उर्फी जावेद रिएलिटी शो बिग बॉस ओटीटी हाउस से बाहर होने वाली पहली कंटेस्टेंट थीं, उन्होंने घर से बेघर होने के लिए कंटेस्टेंट जीशान खान को जिम्मेदार ठहराया।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि उर्फी जावेद ने कहा हमें दो साल तक मानसिक रूप से प्र’ता’ड़ित होना पड़ा, रिश्तेदार मुझे पो’र्न स्टार समझने लगे थे, यहां तक की लोग मेरे बारे में ऐसी-ऐसी गंदी बातें करते थे कि मुझे अपना नाम भी याद नहीं आता था, किसी लड़की को मेरे साथ नहीं जाने दिया जाता था, इस अनुभव के बाद मैंने खुद पर भरोसा किया, मेरे पिता जब मुझे पी’ड़ित-दोषी ठहराते थे, तो मैं कुछ नहीं कहती थी, इस यातना को झेलने के अलावा, मैं कुछ नहीं कर सकती थी, आरजे सिद्धार्थ कन्नन के साथ एक इंटरव्यू में उर्फी जावेद ने बताया कि जब वह स्कूल में थी, तब उनकी फोटो एक ए’डल्ट वेबसाइट पर पोस्ट की गई थीं। उर्फी की फैमिली ने भी उनका सपोर्ट नहीं किया था।

हालाकि घर से भागने के बाद उनको कुछ दिन पार्क में रहना पड़ा था, उनका कहना था, मैं अपनी मां और दो अन्य भाई-बहनों को छोड़कर अपनी दो बहनों के साथ घर से भाग गई थीं और दिल्ली में एक हफ्ते तक एक पार्क में रही थी, फिर हम तीनों ने नौकरी की तलाश शुरू की और एक कॉ’ल सेंटर में मुझे नौकरी मिली, मेरे पिता ने उस समय दूसरी शादी कर ली थी और परिवार की सारी जिम्मेदारी मेरे कंधों पर आ गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.