टेस्ट मैच कप्तान बनने की बात हुई तो मोहम्मद शमी बोले आजमा कर देखो खरा उतरूंगा।

साउथ अफ्रीका दौरे के बाद और विराट कोहली के टेस्ट की कप्तानी को छोड़ने के बाद भारतीय टीम ने कप्तानी को लेकर एक हलचल सी मच गई है जिसमें चयनकर्ताओं के कप्तानी को लेकर कई विकल्प सामने आए हैं। एक बार जसप्रीत बुमराह को भी कप्तान बनाए जाने पर विचार किया गया था।

लेकिन यही मोहम्मद शमी से कप्तान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर उन्हें कप्तानी मिली तो वह पूरी जिम्मेदारी से इस पद को निभाएंगे।भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने गुरुवार को कहा कि वह टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी की भूमिका के लिए तैयार हैं, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि भारतीय टीम की अगुवाई करने का विचार फिलहाल उनके दिमाग में नहीं है.

मोहम्मद शमी ने एक वेबसाइट से बात करते हुए कहा, “मैं इस समय कप्तानी के बारे में ज्यादा नहीं सोच रहा हूं. मुझे जो भी जिम्मेदारी दी गई है, मैं उसके लिए तैयार हूं. सच कहूं, तो भारतीय टीम की कप्तानी कौन नहीं करना चाहता, लेकिन मुझे जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी, मैं उसमें पूरा योगदान दूंगा।

भारत के खिलाफ छह फरवरी से शुरू हो रही सीमित ओवरों की सीरीज के लिए इस तेज गेंदबाज को आराम दिया गया है, क्योंकि शमी पिछले कुछ महीनों से लगातार खेल रहे हैं. शमी ने कहा, “मैं सभी फॉर्मेट में चयन के लिए उपलब्ध हूं और अगर ऐसा होता है तो मैं इसके लिए उत्साहित हूं।

टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया के प्रमुख गेंदबाज मोहम्मद शमी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज़ भी नहीं खेले थे, जिसमें भारत को 0-3 से हार का सामना करना पड़ा था. शमी को साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में भी आराम दिया गया था।

वहीं दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने टेस्ट सीरीज में 14 विकेट हासिल किए थे. सेंचुरियन में भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाने में शमी का अहम योगदान रहा था लेकिन इसके बाद टीम इंडिया जोहानिसबर्ग और केपटाउन में टेस्ट हारकर सीरीज गंवा बैठी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.