मां बंगाली और पिता थे जर्मन, आखिर क्यों मुस्लिम सरनेम लगाती हैं दिया मिर्जा, खुद बताई वजह?

दीया का बचपन बेहद मुश्किल भरा था। उनके पिता जर्मन थे जिनका नाम फैंक हैंडरिच था। जब दीया महज 9 साल की थीं तो उनके पापा-मम्मी का तलाक 11 साल बाद हो गया था। इसके बाद दीया की मां ने बाद में अजीज मिर्जा नाम के शख्स से शादी कर ली। दीया अजीज मिर्जा के काफी क्लोज थीं

दीया एक इंटरव्यू में बताया था कि अजीज मिर्जा ने कभी उनके असली पिता फैंक हैंडरिच की जगह लेने की कोशिश नहीं की, इसी वजह से वह उन्हें बहुत प्यार करती थीं। दिया हैंडरिच ने अपने सौतेले पिता अजीज मिर्जा के प्यार के कारण ही अपना सरनेम चेंज कर मिर्जा कर लिया

वहीं, दीया ने महज 18 की उम्र में ही साल 2000 में मिस एशिया पैसिफिक का खिताब अपने नाम कर लिया था। दीया ने बताया कि उन्होंने इस बारे में कभी भी सोचा नहीं था। उनकी एक फैमिली फ्रेंड ने उन्हें फोन करके मिस इंडिया के ऑडिशंस के बारे में बताया था जिसके बाद एक्ट्रेस वहां पहुंची।

दीया मिर्जा ने यह भी बताया कि उनके सेलेक्ट हो जाने के बाद उन्हें फोन अया और उन्हें रहने,खाने और ट्रैवल के पैसे देने थे। जो उन्होंने अपनी कमाई से दिए भी थे। दीया जब 16 साल की थी तब वह एक मल्टीमीडिया कंपनी में काम करना शुरू कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.