जिसका कैरियर विराट की कप्तानी में लगभग खत्म, रोहित के आते ही टीम में मिली जगह

आपको बता दें कि आने वाली 6 फरवरी से वेस्टइंडीज और इंडिया क्रिकेट टीम के बीच में मुकाबला होने जा रहा है जिसमें टीम इंडिया ने अपने सभी खिलाड़ियों की लिस्ट जारी की है और इस टीम में कई नए चेहरे भी शामिल हुए हैं तथा कई दिग्गजों को आराम दिया गया है।

रोहित शर्मा के कप्तान बनते ही कुलदीप यादव की एक बार फिर से टीम इंडिया में एंट्री हो गई है.आखिरी बार कुलदीप यादव (Kuldeep yadav) श्रीलंका दौरे पर साल 2021 में भारत के लिए खेले थे. उस टीम की कप्तानी शिखर धवन कर रहे थे।

 

कुलदीप यादव अब अपने घुटने के ऑपरेशन के बाद खेलने के लिए तैयार है. पिछले काफी दिनों से वे राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) बैंगलोर में अपने फिटनेस पर काम कर रहे थे. कुलदीप यादव (Kuldeep yadav) और युजवेंद्र चहल की जोड़ी के बारे में अगर दो साल पहले की खबरें पढ़ें तो यह कहा जाता था कि ये जोड़ी भारत के स्पिन डिपार्टमेंट में लंबे समय तक रहने वाली है।

 

लेकिन आखिरकार ये सब सिर्फ खबरें ही साबित हुईं. विराट कोहली की कप्तानी में कुलदीप यादव को बहुत ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला. टीम इंडिया में रहते हुए भी उनको ज्यादातर मैदान के बाहर ही बैठे हुए पाया गया।

क्रिकेट के गलियारों में इस तरह की बातें बहुत सुनने को मिलती हैं कि कुलदीप कभी भी विराट कोहली की गुड बुक्स का हिस्सा नहीं रहे. विराट कोहली को कुलदीप यादव पर बहुत भरोसा नहीं था. हालांकि कुलदीप के बारे में पूर्व कोच रवि शास्त्री ये बयान दे चुके हैं कि विदेशी धरती पर वे भारत के नंबर वन स्पिनर हैं।

लेकिन इसके बावजूद विराट कोहली को कभी भी उन पर ज्यादा भरोसा नहीं रहा. जबकि आंकड़े बताते हैं कि विराट कोहली की कप्तानी में उन्होंने 54 वनडे मैचों में 92 विकेट हासिल किए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.