आईपीएल को ‘इस्लाम विरोधी’ बताकर तालिबान ने मैचों के प्रसारण पर लगाया प्रतिबन्ध

आईपीएल 2021 के दूसरे फेज की रविवार से यूएई में शुरुआत हो चुकी है। दूसरे चरण के पहले मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स ने मुंबई इंडियंस को दुबई में 20 रनों से हराकर टूर्नामेंट में शानदार शुरुआत की। इन मैचों का इस समय पूरी दुनिया इसका लुत्फ उठा रही है, लेकिन एक ऐसा भी देश सामने आया है, जहां आईपीएल के मैचों का प्रसारण नहीं हो रहा है और अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान ने कथित तौर पर आईपीएल को ‘इस्लाम विरोधी’ बताकर मैचों के प्रसारण पर रोक लगवा दी है।

तालिबान ने आईपीएल को इस्लाम के खिलाफ गैर कानूनी बताया है और उसका मानना है कि आईपीएल में चीयर लीडर और स्टेडियम में बिना सिर ढकी महिलाओं से उसे आापत्ति है। तालिबान इसे इस्लाम के खिलाफ मानता है और यह नहीं चाहता कि अफगानिस्तान में कोई गलत संदेश का प्रसार हो।

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) के पूर्व मीडिया मैनेजर और पत्रकार इब्राहिम मोमंद रविवार को ट्विटर पर इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में आईपीएल के प्रसारण पर रोक लगा दिया गया है क्योंकि लीग में इस्लाम के खिलाफ कंटेंट होते हैं।

इब्राहिम ने लिखा, ‘ अफगानिस्तान के नेशनल टीवी और रेडियो पर आईपीएल के मैचों का प्रसारण नहीं होगा। इसके मैचों के प्रसारण पर रोक लगा दी गई है क्योंकि इसके कंटेंट को इस्लाम के खिलाफ माना गया है। इसमें लड़कियां डांस करती है और महिलाएं बिना सिर ढकी हुई होती हैं।’

आईपीएल में इस समय अफगानिस्तान के खिलाड़ी भी खेल रहे हैं। इसमें राशिद खान और मोहम्मद नबी जैसे स्टार खिलाड़ी भी शामिल है। तलिबान का अफगानिस्तान पर कब्जे के समय दोनों ही प्लेयर्स देश से बाहर थे, लेकिन अब वे यूएई में है। राशिद और नबी सनराइजर्स हैदराबाद टीम का हिस्सा हैं। अफगानिस्तान में इस समय महिला क्रिकेट पर भी प्रतिबंध लगा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.