लोअर-बनियान में राशन की जांच करने पहुँचे IAS जुनैद अहमद, लोगो ने कह डाली बड़ी बात

रविवार के अवकाश पर बनियान व लोअर पर ही टहलने निकले एसडीएम सदर (आईएएस) जुनैद अहमद मॉडल तहसील परिसर में पहुंच गए। वहां बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री बांटी जा रही थी। आईएएस अधिकारी के पहुंचने पर पहले तो कुछ देर के लिए वहां मौजूद कर्मचारी पहचान ही नहीं सके लेकिन जैसे ही उनको एसडीएम के होने का एहसास हुआ, हक्के-बक्के रह गए।

एसडीएम ने बाढ़ पीड़ितों को बांटी जाने वाली सामग्री के गुणवत्ता की जांच करते हुए बाढ़ पीड़ितों से राहत सामग्री के बारे में जानकारी भी ली ।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत शहर के निचले इलाके में रहने वाले यारपुर, बेदुआ, राजपूत नेवरी के बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरण के लिए प्रशासन ने रविवार का दिन निर्धारित किया था। सूची में 418 पीड़ितों का नाम था। कर्मचारियों ने सूची से मिलान कर राहत सामग्री का वितरण भी शुरू कर दिया ।

इसी बीच सुबह करीब 11 बजे लोअर व बनियान पहनकर मॉर्निंग वॉक पर निकले एसडीएम भी तहसील में पहुंच गए। पीछे खड़े एसडीएम पर पहले तो किसी की नज़र नहीं पड़ी। कुछ कर्मचारियों ने देखा भी तो पहली नजर में गच्चा खा गए ।

इसके बाद जैसे ही एसडीएम के होने का एहसास हुआ, सभी हैरान रह गए। एसडीएम ने वाहनों पर लदी राहत सामग्री को देखा। साथ ही बाढ़ पीड़ितों से बातचीत करते हुए उन्हें मिलने वाले राशन के पैकेट के बारे में जानकारी ली ।

(साभार)

Leave a Reply

Your email address will not be published.