इंजीनियर भाई और बहन ने लॉकडाउन में लगाया देशी जुगाड़, इस तरकीब से घर पर ही बना दी आटा चक्की

इंजीनियर भाई और बहन ने लॉकडाउन में लगाया देशी जुगाड़, इस तरकीब से घर पर ही बना दी आटा चक्की
लॉकडाउन ने तो जैसे लोगों के जीने का तरीका ही बदल दिया है, लॉकडाउन की वजह से ना सिर्फ कई लोगों के काम छूटे बल्कि कई लोगों के रहन-सहन और सोचने तक का तरीका बदल दिया। हर तरफ से परेशानी ही परेशानी नजर आ रही है, इसी बीच झारखंड में जमशेदपुर के परिवार में एक इंजीनियर भाई और उसकी बहन ने मिलकर लॉकडाउन में ही एक ऐसा देशी जुगाड़ लगाया कि घर के काम के साथ-साथ एक्सरसाइज का भी जुगाड़ हो गया।

इंजीनियर भाई और बहन ने लॉकडाउन में लगाया देशी जुगाड़, इस तरकीब से घर पर ही बना दी आटा चक्की
पिछले दो-तीन महीने से आप अक्सर यह सुनते आ रहे हैं कि लॉकडाउन की वजह से लोगों का घर से बाहर निकलना बंद हो गया है और लोग घर में बैठे-बैठे और अस्वस्थ होते जा रहे हैं। किसी का वजन बढ़ रहा है तो किसी को कोई और तरह की समस्या हो रही है। बहुत सारे लोग जिम नहीं जा पाने की वजह से परेशान है। ऐसे मैं जमशेदपुर के इस परिवार ने कसरत करने वाले साइकिल और घर में पड़े कुछ अन्य कबाड़ के सामानों जुगाड़ करके साइकल आटा चक्की बना डाली।

इंजीनियर भाई और बहन ने लॉकडाउन में लगाया देशी जुगाड़, इस तरकीब से घर पर ही बना दी आटा चक्की
चूँकि पहले से ही लॉकडाउन लगा हुआ था और बाजार भी बंद था ऐसे में उन्होंने पिसाई मशीन को कसरत वाली साइकिल से ही जोड़ दिया जिससे साइकिल चलने पर पिसाई मशीन भी चलती और इस तरह से ना दिर्फ़ जिम हो जाता है बल्कि मशीन में सभी तरह के मसाले और अनाज भी आसानी से पिस जाते हैं। घर बैठे महिलाओं के लिए जिनका वजन बढ़ रहा है या ओवररेटेड लोगों के लिए यह जुगाड़ बहुत ही कारगर है।

इंजीनियर मनदीप मनदीप तिवारी ने बताया कि लॉकडाउन में लोगों को व्यायाम नहीं कर पाने की वजह से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। ऐसे में उन्होंने कसरत वाली साइकिल ली और कुछ अन्य सामान के साथ थोड़ी इंजीनियरिंग लगाई और आटा चक्की तैयार कर दिया। वह बताते हैं कि इस मशीन में एक गोलाकार बर्तन को जोड़ा गया है जिसमें अनाज को डालकर साइकिल चलाई जाती है और जितनी देर साइकिल चलता है कि देर अनाज पिसता रहता है। ऐसे में ना सिर्फ साइकिल चलाने से अच्छा-खासा कसरत भी हो जाता है बल्कि अनाज भी आसानी से घर बैठे ही पीस जाता है।

इंजीनियर भाई और बहन ने लॉकडाउन में लगाया देशी जुगाड़, इस तरकीब से घर पर ही बना दी आटा चक्की
मनदीप की बहन सीमा बताती हैं कि इससे वह न केवल से गेहूं बल्कि चावल, मसाला जैसी तमाम चीजों को भी आसानी से पीस ले रही है। उनके इस जुगाड़ ने देखते-देखते इतनी लोकप्रियता हासिल कर ली की आस पड़ोस के लोग भी उनके घर अपना मसाला और गेहूं पिसाने आने लगे। सबसे खास बात तो यह है कि पूरी तरह से स्वदेशी जुगाड़ पर तैयार हुई इस मशीन को चलाने के लिए बिजली या किसी अन्य तरह के साधन की आवश्यकता नहीं पड़ती।

Leave a Reply

Your email address will not be published.