भारतीय डॉक्टर ने किया था रिजवान का इलाज, सेमीफाइनल के लिए ऐसा था PAK बल्लेबाज का जज्बा

पाकिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान सुर्खियों में हैं. रिजवान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में 52 गेंदों में 67 रनों की शानदार पारी खेली थी. हालांकि, इस पारी के बावजूद पाक टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा.

पाकिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान सुर्खियों में हैं. रिजवान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में 52 गेंदों में 67 रनों की शानदार पारी खेली थी. हालांकि इस पारी के बावजूद पाक टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा.

पाकिस्तान की हार के बावजूद रिजवान की यह पारी बेहद खास रही. दरअसल, यह पाकिस्तानी ओपनर सीने में संक्रमण के चलते सेमीफाइनल मुकाबले से पहले दो दिनों तक अस्पताल में भर्ती था. इस दौरान मेडोर अस्पताल के डॉक्टर साहीर सैनालबदीन ने क्रिकेटर का इलाज किया था. रिजवान के जल्दी ठीक होने से साहीर काफी हैरान हैं.

भारतीय डॉक्टर साहीर सैनालबदीन ने कहा, ‘रिजवान के महत्वपूर्ण नॉकआउट मैच में अपने देश के लिए खेलने की तीव्र इच्छा थी. वह मजबूत, दृढ़निश्चयी और आत्मविश्वास से लबरेज थे. उन्होंने जिस गति से रिकवर किया है, उससे मैं चकित हूं. सेमीफाइनल से पहले रिकवरी और फिटनेस हासिल करना उम्मीदों से परे लग रहा था. किसी को भी ठीक होने में आमतौर पर 5-7 दिन लगते हैं.’

साहीर ने कहा, ‘रिजवान अस्पताल में भर्ती होने से पहले 3-5 दिनों से रुक-रुक कर बुखार, लगातार खांसी और सीने में जकड़न से पीड़ित थे. चिकित्सा दल ने तुरंत उन्हें स्थिर किया और उनके दर्द को कम करने के लिए दवाइयां दीं. हॉस्पिटल में भर्ती होने के समय समय उनका दर्द 10/10 था.’

फिर मेडिकल टीम ने 29 वर्षीय क्रिकेटर को आईसीयू में स्थानांतरित कर दिया और उनकी स्थिति पर लगातार नजर रखी. रिजवान को गंभीर दर्द और चिकित्सीय स्थिति से जुड़े दूसरे समस्याओं को झेलना पड़ा. आईसीयू में दो रातों तक, रिजवान ने रोग निवारक मेडिसिन को लेकर अच्छी प्रतिक्रिया दी और महत्वपूर्ण सुधार दिखाया. डॉक्टरों का मानना ​​​​था कि उनके तेजी से ठीक होने में‌ अन्य दूसरे कारकों का योगदान हो सकता है.

साहीर ने कहा, ‘डॉक्टरों की टीम द्वारा मूल्यांकन किए जाने के बाद रिजवान को बुधवार दोपहर के करीब अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. वैसे टीम के अधिकारी लगातार मेडिकल टीम के संपर्क में थे. खेल आयोजनों के दौरान हमने खिलाड़ियों को चोटों के साथ आते हुए देखा है. लेकिन यह पहली बार है जब इस पैमाने के गंभीर संक्रमण वाला कोई खिलाड़ी इतनी जल्दी स्वस्थ हुआ है.’

रिजवान ने भी डॉक्टरों और मेडिकल टीम को उनके समर्थन और देखभाल के लिए धन्यवाद दिया. रिजवान ने साहीर सैनालबदीन को एक साइन की हुई जर्सी भी भेंट की. गौरतलब है कि दुबई का मेडोर हॉस्पिटल, वीपीएस हेल्थकेयर की एक इकाई है. यह ग्रुप बायो-बबल की रक्षा करता है और मौजूदा टी 20 विश्व कप के लिए चिकित्सीय सेवाएं प्रदान कर रहा है.‌

Leave a Reply

Your email address will not be published.