हार के बाद राहुल द्रविड़ ने तोड़ी चुप्पी, निशाने पर आए कई खिलाड़ी।

साउथ अफ्रीका में टीम इंडिया का सूपड़ा साफ हो गया। वनडे सीरीज में 3-0 से मिली हार से कोच राहुल द्रविड़ निराश हैं। जिस तरह का प्रदर्शन बल्लेबाजों ने किया है वो अब द्रविड़ के निशाने पर आ गए हैं। तीसरे वनडे में हार के बाद कोच राहुल द्रविड़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि

टीम की तरफ से उन्हें सिक्योरिटी दी जाएगी। लेकिन उन्हें भी अच्छा खेल दिखाना होगा। और उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हम हमेशा खिलाड़ियों को टीम में जगह सुरक्षित होने का भरोसा देना चाहते हैं, ताकि आपको लगातार मौका मिल सके। लेकिन जब आपको ये चीज़ें मिलती हैं, तब आप खिलाड़ियों से बड़ी परफॉर्मेंस की उम्मीद करते हो और अगर आपको इस लेवल पर खेलना है तो इसे पूरा करना होगा।

उन्होंने कहा, आप चौथे, पांचवें या छठे नंबर पर बल्लेबाजी कर रहे हैं तो आपको पता होना चाहिए कि टीम की जरूरत क्या है। श्रेयस अय्यर तीनों मैचों में जल्दी आउट हो गया। हमें पता है कि ये सभी अच्छा प्रदर्शन करते आए हैं और हम हरसंभव उनका साथ देंगे। लेकिन टीम में हर जगह के लिये प्रतिस्पर्धा बहुत है और इन हालात में यह आसान नहीं होता।

केएल राहुल की कप्तानी के बारे में पूछने पर कोच ने कहा कि लोगों को समझना होगा कि वह उपलब्ध टीम से जो सर्वश्रेष्ठ कर सकता था, उसने किया। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि उसने अच्छा काम किया। हारने पर यह सब आसान नहीं होता लेकिन उसने अभी शुरुआत ही की है। वह समय के साथ सीखेगा और कप्तानी का मतलब अपने खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कराना भी है। जो भी खिलाड़ी उपलब्ध हैं। वनडे टीम में कुछ कमी रह गई लेकिन उसने अपने काम को बखूबी अंजाम दिया। वह समय के साथ बतौर कप्तान निखरेगा।

भारतीय टीम ने उम्मीद के उलट प्रदर्शन किया है। अफ्रीका दौरे से पहले लग रहा था कि टीम इंडिया काफी मजबूत है। लेकिन पहले टेस्ट में 1-2 से हार और फिर वनडे में 3-0 से मिली हार ने सारे कमजोरी सामने रख दी। राहुल द्रविड़ का ये कोच के तौर पर पहला विदेशी दौरा था। साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज़ में टीम इंडिया का प्रदर्शन बेहद शर्मनाक रहा है। खासकर बल्लेबाजी में मिडिल ऑर्डर ने टीम की लुटिया डुबो दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.